मंगलवार, 2 फ़रवरी 2016

ललित नारायण मिश्रक जयंती दिवस 02 FEBRUARY 1923

 मिथिला के महान सुपुत्र "ललित नारायण मिश्र " के जन्म 02 फ़रवरी 1923 के बिहार के सुपौल जिला के बसुपट्टी गाँव (बलुआमें भेल छलैन्ह ! पिछड़ल मिथिला के राष्ट्रीय मुख्यधारा के समकक्ष लाबय के हुनकर प्रयास के बराबरी अखन धरि कियो नहि कअ सकल ! छात्र जीवन में राजनीति में प्रवेश केलक बाद 1945-48 में पटना विश्वविद्यालय  अर्थशास्त्र में एमए केलाह और 1950 में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य बनला सअ हुनका राष्ट्रीय पहचान भेटल !
    सर्वसम्मति  1972 में कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य चुनल गेलाह ! अप्पन राजनितिक जीवन काल में संसदीय सचिवयोजनाश्रम  रोजगार (1957-1960) मंत्रालय आदि में कार्यरत रहला और 1973 सअ 1975 तक भारत के रेलमंत्री छलाह  विदेश व्यापार मंत्री के रूप में , बाढ़ नियंत्रण एवं कोशी योजना में पश्चिमी नहर के निर्माण के लेल नेपाल-भारत समझौता करेलैथ।


      मिथिला चित्रकला (मधुबनी पेंटिंगके देश-विदेश में प्रचारित कअ प्रतिष्ठा दियाबय में हुनकर प्रमुख योगदान रहल ! रेल मंत्री के रूप में मिथिलांचल के 36 रेल योजना के सर्वेक्षण के स्वीकृति देलैथ जाहि में पिछड़ल क्षेत्र झंझारपुर-लौकहा रेललाइनभपटियाही से फारबिसगंज रेललाइन आदि छल ! आजुक "वैशाली एक्सप्रेस ", 'जयंती जनताके नाम सअ मिथिला के गौरवान्वित करैत छल ! अपन मातृभाषा मैथिली सअ हुनकर अगाध प्रेम के परिणाम छल जे 1963-64 में मैथिली के 'साहित्य अकादमीमें भारतीय भाषा सबहक सूची में सम्मिलित कायल गेल। 3 जनवरी 1975 के समस्तीपुर बम-विस्फोट कांड में हुनकर मृत्यु भअ गेलैन्ह 

Read more...

शनिवार, 30 जनवरी 2016

मैथिली साहित्य महासभाक स्थापना दिवस - २१ फ़रवरी २०१६

समस्त मैथिल मैथिली साहित्यप्रेमीजन कें नमस्कार!
पने सबहक सहयोग आशीर्वाद ' मैथिली साहित्य महासभा दिल्ली अपन स्थापनाक पहिल वर्ष पूर्ण करय जा रहल अछि..२१ फ़रवरी २०१६ कय.
२१ फरवरी अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवसक रूपमें मनाओल जैत अछि...संगहि दिन आब मैथिली साहित्य महासभाक स्थापना दिवसक रूपमें सेहो जानल जायत...किएक ' अही दिन स्थापना भेल छल मैथिली साहित्य महासभाक.
दिल्ली में मैथिली साहित्यकेर उन्नयन संवर्धन हेतु बनल संस्था अपन पहिल वर्ष में व्याख्यानमालाक आरम्भ सेहो कयलक. संगहि अपन स्थापना दिवस पर एकबेर फेर अपने सबहक समक्ष "द्वितीय वार्षिक संगोष्ठी : मैथिली साहित्यक वर्तमान परिदृश्य" ' ' प्रस्तुत अछि...
२१ फ़रवरी २०१६, दिन रवि संध्याकाल ३बजे एकबेर फेर प्रतीक्षा रहत अपने समस्त साहित्य प्रेमी केर नई दिल्ली केर रफ़ीमार्ग स्थित कन्स्तीच्युशन क्लबमें...
अपने सबहक सिनेह सदिखन मैथिली साहित्य महासभा के भेटैत रहत एहि विश्वासक संग...

अपनेक 
अमर नाथ झा (Amar Nath Jha)

अध्यक्ष
मैथिली साहित्य महासभा, दिल्ली

Read more...

सगर राति दीप जरय

मिथिलाक खानपान...

मिथिलाक खानपान-नीलिमा चौधरी आ राखी साह... मखानक खीर सामग्री- दूध-१ १/२ किलो, चिन्नी-१०० ग्राम, मखान कुटल- १०० ग्राम, इलाइची पाउडर- स्वाद अनुसार, काजू- १० टा, किशमिश-२०टा बनेबाक विधि- मखानक पाउडर (कनी दरदरा)क पहिने १/२ किलो ठंढ़ा दूधमे घोरि लिअ, शेष दूध केँ खौला लिअ। आब गर्म दूधमे ई घोड़ल मखानक मिश्रण मिला दियौक आर करौछसँ लगातार चलबैत रहियौक जाहिसँ मिश्रण पेनीमे बैसय नहि। .... (आगाँ पढू)

मिथिला अरिपन....

मिथिला चित्रकला- स्त्री आ पुरुषक दशपात अरिपन / स्वास्तिक अरिपन... स्त्रीगणक दशपात अरिपनकन्याक मुण्डन,कान छेदन आ' विवाहक अवसर पर कुलदेवताक घर आकि मण्डप पर बनाओल जाइत अछि।बनेबाक- विधि। एकर बनेबाक विधि सूक्ष्म अछि।ऊपरमे तीन पातक पुष्प, ,ओकरनीँचा पाँच-पातक कमल-पुष्प,ओकर नीचाँ सात-पात युक्त्त कमल, बीचमे अष्टदल कमल अछि। दश पात चारू दिशि अछि। नौ टा माँछक चित्र सेहो अछि... (आगाँ पढू)

पाँच पत्र...


पाँच पत्र-हरिमोहन झा... प्रियतमे अहाँक लिखल चारि पाँती चारि सएबेर पढ़लहुँ तथापि तृप्ति नहि भेल। आचार्यक परीक्षा समीप अछि किन्तु ग्रन्थमे कनेको चित्त नहि लगैत अछि। सदिखन अहींक मोहिनी मूर्ति आँखिमे नचैत रहैत अछि। राधा रानी मन होइत अछि जे अहाँक ग्राम वृन्दावन बनि जाइत, जाहिमे केवल अहाँ आ हम राधा-कृष्ण जकाँ अनन्त काल धरि विहार करैत रहितहुँ... (आगाँ पढू)

© कॉपीराइट सूचना:
मैथिल आर मिथिला
सर्वाधिकार सुरक्षित। एहि जालवृत्तपर ई-प्रकाशित कोनो रचनाकेँ प्रिंट, दृश्य, श्रव्य,इलेक्ट्रॉनिक वा कोनो डाटा स्टोरेज माध्यमसँ स्थांतरण वा प्रकाशन बिना सम्बन्धित प्रस्तुतकर्त्ता/ लेखकगणक, जिनकामे ओहि रचनाक कॉपीराइट निहित छन्हि, लिखित अनुमतिक नहि कएल जा सकैत अछि।

  © Maithil Aar Mithila. All rights reserved. Website Design By: Jitmohan Jha (Jitu)

Back to TOP